Breaking Newsदेश-विदेशधर्म-कर्म
Trending

लॉकडाउन के बीच दूरदर्शन पर फिर शुरू होगा रामायण का प्रसारण, जाने कब और क्यों ?

देश में चल रहे 21 लॉकडाउन के दौरान सरकार को न केवल लोगों के खाने की चिंता हैं बल्कि घरों में रहकर उकता गए लोगों पूरा ख्याल है। ऐसे में सरकार लॉकडाउन का पालन कर घरों में रह रहे लोगों के एंटरटेनमेंट और वक्त गुजारने के लिए 'रामबाण' छोड़ा है। सरकार ने फैसला लिया है कि ऐसी संकट की घड़ी में लोगों के लिए 80 के दशक के मशहूर टीवी धारावाहिक रामायण...

  • दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल पर शनिवार सुबह 9 बजे से होगी शुरूआत
  • सूचना प्रसारंण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट कर साझा की जानकारी
  • ‘महाभारत’ सीरियल का भी प्रसारण करने की संभावनाएं तलाश रही सरकार

नई दिल्ली। देश में चल रहे 21 लॉकडाउन के दौरान सरकार को न केवल लोगों के खाने की चिंता हैं बल्कि घरों में रहकर उकता गए लोगों पूरा ख्याल है। ऐसे में सरकार लॉकडाउन का पालन कर घरों में रह रहे लोगों के एंटरटेनमेंट और वक्त गुजारने के लिए ‘रामबाण’ छोड़ा है। सरकार ने फैसला लिया है कि ऐसी संकट की घड़ी में लोगों के लिए 80 के दशक के मशहूर टीवी धारावाहिक रामायण का प्रसारण फिर से किया जाए। रामायण का यह प्रसारण दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल पर शनिवार सुबह 9 बजे से शुरू किया जाएगा।

केंद्रीय प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर द्वारा ट्ववीट कर साझा की गई जानकारी।

यह जानकारी सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार सुबह ट्वीट कर साझा की है। उन्होंने बताया कि बताया कि जनता की मांग पर शनिवार 28 मार्च से एक बार फिर ‘रामायण’ का प्रसारण दूरदर्शन के नेशनल चैनल पर होगा। जिसका पहला एपिसोड सुबह 9.00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9.00 बजे होगा। इसके अलावा सरकार बी आर चौपड़ा के मशहूर सीरियल ‘महाभारत’ को भी प्रसारित करने की संभावना तलाश रही है। रामानंद सागर कृत ‘रामायण’ का प्रसारण साल 1987 में पहली बार और बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ का प्रसारण साल 1988 में पहली बार दूरदर्शन पर हुआ था।

ADVT.

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते देश में चल रहे 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के बाद से लोग सोशल मीडिया पर लगातार ‘रामायण’ को एक बार फिर प्रसारित करने की मांग कर रहे थे। जिसे कई लोगों ने देश के सूचना प्रसारण मंत्री को टैग किया था। जिसके बाद प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने कहा कि जिन लोगों के पास ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ के राइट्स हैं, उनके साथ बातचीत चल रही है जल्द की सूचना दी जाएगी। इसी बीच उन्होंने 26 मार्च को यह भी बताया कि आज शाम तक वो इस संबंध में दोनों सीरियलों के प्रसारण समय और शेड्यूल के बारे में पूरी जानकारी देंगे। जिसके बाद शुक्रवार सुबह केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने खुद रामायण के प्रसारण की जानकारी सोशल मीडिया पर साझा की है।

बता दें कि 80 के दशक में ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ दोनों सीरियलों का ऐसा जलवा था कि इनके प्रसारण के समय सड़कें सुनसान हो जाती थीं।  इनके प्रसारण के समय ऐसा माहौल होता था कि मानो देश में कर्फ्यू लग गया हो। लोग ‘रामायण’ का प्रसारण शुरू होने पर टीवी पर ही भगवान राम की आरती तक उतारते थे। दोनों धारावाहिक भारतीय टीवी जगत के सबसे सफल सीरियल्स माने जाते हैं। जिनके 55 देशों में साढ़े छह करोड़ से अधिक दर्शकों रहे हैं। इनके पात्रों की लोकप्रियता का आलम यह था कि ‘रामायण’ में राम और सीता का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया के फोटो लोग घरों में राम-सीता के तौर पर लगाने लगे थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close