उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सेक्टर-1 स्थित सुपरटेक के इकोविलेज-1 परियोजना पर एनजीटी का उल्लंघन करने पर पांच लाख का जुर्माना लगाया गया है। वहीं पंचशील ग्रीन्स-1 सोसायटी को एसटीपी सुचारु रूप से चलाने का नोटिस जारी किया है।
बोर्ड की क्षेत्रीय अधिकारी डॉ. अर्चना द्विवेदी ने बताया कि शिकायत मिलने पर विभाग के अधिकारियों की टीम ने शुक्रवार को संबंधित स्थल का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान पाया गया है कि परियोजना में कंस्ट्रक्शन से मिट्टी व निर्माण सामग्री को सर्विस रोड पर खुले में रखा गया है। मिट्टी को ढ़कने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है। खुले में निर्माण सामग्री व एनजीटी का उल्लंघन करते हुए पाए जाने पर परियोजना पर पांच लाख का जुर्माना लगाया गया है। वहीं सेक्टर-16बी स्थित पंचशील ग्रीन्स-1 के खिलाफ एसटीपी के पानी को नाले में डालने की शिकायत मिली। जिस पर कार्रवाई करते हुए विभाग की टीम ने स्थलीय निरीक्षण किया गया। जिसमें पाया गया है कि एसटीपी का संचालन व रखरखाव उचित नहीं किया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान पाया गया है कि नाले में डाले जा रहे एसटीपी के शुद्धिकृत उत्प्रवाह में अशुद्धिकृत उत्प्रवाह को मिला कर निस्तारित किया जा रहा है। जोकि यह एनजीटी का उल्लंघन है। इसलिए पंचशील ग्रीन्स-1 को नोटिस जारी किया गया है।