ग्रेटर नोएडा के लुक्सर स्थित जिला जेल। ग्रेनो मीडिया

ग्रेटर नोएडा। लुक्सर स्थित जिला जेल में दो बंदियों के बीच झगड़ा हो गया। जिसमें एक बंदी की गंभीर चोट लगने के चलते इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक बंदी गैंगस्टर एक्ट के मुकदमें में जेल आया था। वहीं आरोपी युवक भी हत्या के मामले में जेल में बंद है। फिलहाल जेल प्रशासन की तरफ से ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक-1 कोतवाली में मामला दर्ज कराया जा रहा है। वहीं मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

जेलर सत्यप्रकाश ने बताया कि बिहार का रहने वाला अलाउद्दीन व ग्रेटर नोएडा के सलेमपुर गुर्जर गांव के रहने वाला आरिफ जेल के 3 नंबर आहते में रहते थे। दोनों के बीच दोस्ती भी थी। बीते 19 मई को दोनों के बीच हंसते हंसाते किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। जिसके दोनों ने एक दूसरे को धक्का मुक्की में आरिफ को गलत जगह पर चोट लग गई। जिसके बाद उसे जिला अस्पताल भेजा गया। जहां से उसे दिल्ली के सफदरंजग अस्पताल भेजा गया। जहां उसका ऑपरेशन होने के बाद ठीक होने पर उसे जेल भेज दिया गया। लेकिन गुरूवार दोपहर बाद अचानक से उसका तापमान बढ़ने लगा। इसी दौरान उसे जेल से एंबुलेंस के द्वारा आनन फानन में जिला अस्पताल भेजा गया। लेकिन रास्ते में ही आरिफ ने दम तोड़ दिया।

बता दें कि सूरजपुर का रहने वाले मृतक आरफि को गैंगस्टर एक्ट में जेल भेजा गया था। इससे पहले भी वह जेल में रहकर जा चुका है। वहीं अलाउद्दीन बिहार का रहने वाला है और 302 के मुकदमें में जेल में बंद है। फिलहाल जेल प्रशासन द्वारा मुकदमा दर्ज कराने की कार्रवाई की जा रही है। वहीं आरिफ के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।