दुजाना निवासी मनीष नागर सेना की इंजीनियरिंग कोर मे लेफ्टिनेंट बन गए है। दुजाना निवासी शिक्षक भूपेन्द्र नागर ने बताया कि मनीष नागर ने आर्मी टेस की परीक्षा उत्तीर्ण कर सेना की तरफ से इंदौर में 4 वर्षीय प्रशिक्षण पूर्ण किया। कल इस प्रशिक्षण के पूर्ण होने पर इंदौर में सेना के प्रशिक्षण स्थल पर पासिंग आउट परेड का आयोजन किया गया जिसमें से परेड के एक भाग का नेतृत्व मनीष नागर ने किया।


भूपेन्द्र नागर ने बताया कि आर्मी टेस (टेक्निकल एंट्री स्कीम) की परीक्षा भी NDA/CDS की तरह ही आयोजित की जाती है जिसके लिए विज्ञान वर्ग से इंटरमीडिएट होना आवश्यक है। मनीष बचपन से ही एक होनहार छात्र रहे है व इनके पिता भी भारतीय नोसेना मे वारंट ऑफिसर के रूप मे कार्यरत है। मनीष की उपलब्धि पर गाँव के बड़े बजुर्गो ने उसे अपनी सुभकामनाये भेंट की है व गाँव के युवाओं ने प्रेरणा प्राप्त की है।
दुजाना गाँव मे इससे पूर्व भी कई लोग सेना मे विभिन्न उच्च पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे है व कुछ सेवानिवृत्त हो चुके है।