Breaking Newsउत्तर प्रदेशएनसीआरस्वास्थ्य

#IndiaFightsCorona ⁄ पूर्व केंद्रीय मंत्री के कैलाश समूह का यह अस्पताल हुआ सील, अस्पताल में भर्ती मरीज मिला कोरोना पॉजिटिव

बुलंदशहर। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं गौतमबुद्ध नगर संसदीय क्षेत्र से बीजेपी सांसद महेश शर्मा के कैलाश समूह का खुर्जा स्थित अस्पताल शुक्रवार को सील कर दिया गया। अस्पताल में भर्ती एक डायबिटीज के मरीज को शुक्रवार सुबह कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। फिलहाल संक्रमित मरीज को आईसोलेशन में भेज दिया गया है। वहीं जिला स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के अधिकारी मामला कैलाश अस्पताल से जुड़ा होने के कारण फूंक-फूंक कर कदम रख रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बीते 4 मई को बुलंदशहर के खुर्जा क्षेत्र स्थित पीरजादगान मोहल्ले के रहने वाले एक 53 साल के व्यक्ति को कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां संदेह होने पर डॉक्टरों ने एक निजी लैब से उसकी कोविड-19 की जांच कराई थी। गुरूवार रात रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मरीज को चिट्टा स्थित एल-1 कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बुलंदशहर सीएमओ डा. के.एन. तिवारी ने बताया कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के परिवार के अन्य 9 लोगों को भी क्वारंटीन किया गया है। कोरोना संक्रमित पाया गया व्यक्ति खुर्जा में मीट की दुकान चलाता था। जिसकी बीते 15 दिनों से तबियत खराब थी। बताया जा रहा है कि व्यक्ति डायबिटीज की बीमारी से ग्रस्त है।

यह भी देखें :- भाजपा के युवा नेता की कोरोना संक्रमण से मौत, इससे पहले मृतक भाजपा नेता के पिता भी कोरोना संक्रमण से गावा चुके हैं जान

फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मरीज के संपर्क में आए लोगों की सूची तैयार करने में लगे हैं। जिसके लिए अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जा रही है। ताकि कोरोना संक्रमित व्यक्ति से मिलने वाले लोगों व अस्पताल स्टाफ की पहचान हो सके। संक्रमित के संपर्क में आने वाले लोगों की सूची तैयार करके उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा। वहीं एहतियातन खुर्जा नगर के 5 मोहल्लों को हॉटस्पॉट घोषित करते हुए सील किया गया है। वहीं एसडीएम खुर्जा ईशा प्रिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग से मिली रिपोर्ट के आधार पर कैलाश अस्पताल को सील कर दिया गया है। अस्पताल को सेनेटाइज किए जाने की प्रक्रिया चल रही है। वहीं अस्पताल के स्टॉफ से पॉजिटिव आए व्यक्ति से आए लोगों के बारे में जानकारी हांसिल की जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को क्षेत्रीय सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा भी खुर्जा स्थित कैलाश अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने मामले को लेकर अस्पताल के डॉक्टरों व कर्मचारियों से बातचीत करते हुए सावधानी बरतनें के निर्देश दिए।

बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं क्षेत्रीय सांसद डॉ. महेश शर्मा ने देश में कोरोना से लड़ी जा रही इस जंग में सहयोग के लिए आगे आते हुए अपने ग्रेटर नोएडा स्थित कैलाश आयुर्वेद संस्थान को क्वारंटीन बनाने के लिए प्रशासन के सुपुर्द किया था। हालांकि यह बात अलग है कि अप्रैल माह से बीते दो दिन पूर्व तक भी कैलाश आयुर्वेद संस्थान में बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में किसी भी संदिग्ध मरीजा को भर्ती नहीं किया गया है। जहां कोरोना संदिग्ध मरीजों को भर्ती नहीं किए जाने के पीछे का कोई कारण स्पष्ट नहीं है। जबकि ग्रेटर नोएडा और नोएडा के अन्य क्वारंटीन सेंटरों में कोरोना संदिग्ध मरीजों की अच्छी खासी भीड़ है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close