ग्रेटर नोएडा वेस्ट। पेरेंट्स एसोसिएशन और नेफोवा के द्वारा रविवार को एक बार फिर से लॉकडाउन अवधि की फीस माफी की मांग को लेकर ट्विटर पर अभियान चलाया। यह अभियान लगातार 12 रविवार को चलाया गया। जिसमें शाम चार बजे तक #नोस्कूलनोफ़ीस (#Noschoolnofee) 16.6K व #पेरेंट्स डिमांड जस्टिस (#ParentsDemandJustice) के 15.2k ट्वीट किए गए। पहले की तरह ही इस बार भी लोगों ने यह ट्वीट प्रधानमंत्री कार्यालय, पीएम नरेंद्र मोदी, मानव संसाधन विकास मंत्री, सीएम योगी आदित्यनाथ व सीएम कार्यालय के लिए मेंशन करते हुए किए।

अभिभावकों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण आर्थिक बजट गड़बड़ा गया है। जिस कारण पेरेंट्स फ़ीस जमा कराने की स्थिति में नहीं है। उन्होंने कहा कि फ़ीस माफी का निर्णय सरकारी स्तर से लिया जाना चाहिए तथा स्कूलो को  टीचर्स/स्टाफ़ का वेतन जारी करने के लिए स्कूलों को आदेशित किया जाना चाहिए। एनसीआर पैरेंट्स एसोसिएशन से सुखपाल तूर और नेफोवा सदस्य अनुपम का कहना है कि मिडल क्लास के लिए सरकार को जल्द से जल्द अपना फैसला देना जब लाकडाउन अवधि की फीस का बोझ मिडिल क्लास पर ना डाला जाएं। अगर सरकार का फैसला जल्द नहीं आएगा तो सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए अपना रोष व्यक्त करेगे। नेफोवा अध्यक्ष अभिषेक कुमार का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने जैसे हाई कोर्ट में जाने के लिए कहा है तो नेफोवा हाई कोर्ट में भी अभिभावकों की लड़ाई लडने के लिए तैयार है।