• अस्पताल से घर पहुंचने पर दादरी विधानसभा से बीजेपी विधायक तेजपाल सिंह नागर ने दी फोन कर बधाई
  • नगर पालिका सभासद सुमित बैसोया ने की जंग जीतकर घर लौटे पूरे परिवार का सम्मान करने की घोषणा

ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री एवं एमएलसी नरेंद्र भाटी के परिवार के सदस्यों ने कोरोना से जंग जीत ली है। परिवार में सबसे पहले कोरोना पॉजिटिव होने वाले उनके भतीजे की रिपोर्ट अब निगेटिव हो गई है। जिसके बाद उन्हें अस्पताल से घर भेज दिया गया है। अस्पताल से उनके घर पहुंचने पर उनके पड़ौसी एवं दादरी विधान सभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक तेजपाल सिंह नागर ने भी उन्हें फोन कर बधाई दी है।

बता दें कि सपा के कद्दवर नेता एवं एमएलसी नरेंद्र भाटी के भतीजे मोनू उर्फ दितेश भाटी अपने परिवार के साथ दादरी के गुर्जर कॉलोनी में निवास करते हैं। मोनू भाटी को बुखार व गले में दर्द की शिकायत होने पर 10 जून को ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल में उनकी कोविड-19 की जांच कराई गई थी। जिसमें उन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने पर ग्रेनो के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद जांच में 13 जून को उनकी मां व दो बहनों और 19 जून को कुछ रिश्तेदारों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि की गई थी। लेकिन 21 जून को मोनू भाटी की एक बार फिर से कराई गई कोरोना की जांच नेगेटिव आई है। जिसके बाद उन्हें अस्पताल से उन्हें घर पर ही क्वारंटीन रहने की सलाह देते हुए डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया है।

वहीं मोनू भाटी ने ग्रेनो मीडिया से बात करते हुए बताया कि उन्हें अस्पताल में हमारे क्षेत्रीय सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा के द्वारा योगा बताए गए। जिससे उन्हें सबसे अधिक लाभ हुआ। जिसके बाद वो और उनका परिवार कोरोना से जंग जीतकर सही सलामत घर लौटा है। मोनू भाटी ने बताया कि उनकी छोटी बहन को भी जांच में नेगेटिव पाए जाने पर उनके साथ घर भेज दिया गया था। जबकि उनकी मां और बड़ी बहन को जांच में आज नेगेटिव होने की पुष्टि हुई है। जिसके बाद उन्हें भी आज घर भेज दिया जाएगा। मोनू भाटी और उनके पूरे परिवार के द्वारा कोरोना से जंग जीतने पर गुर्जर कॉलोनी में खुशी का माहौल है। वहीं मोनू भाटी के पड़ौसी एवं दादरी नगर पालिका परिषद के सभासद सुमित बैसोया ने परिवार के सभी सदस्यों के घर पहुंचने पर उनके स्वागत की घोषणा की है।