मध्यप्रदेश। भोपाल से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की तबियत अचानक खराब हो गई। जिसके चलते वो पार्टी कार्यालय में ही बेहोश होकर गिर गईं। जिके बाद पार्टी कार्यकर्ताओं के द्वारा उन्हें उठाकर पानी आदि पिलाकर होश में लाया गया। वो पार्टी कार्यालय में आयोजित श्याम प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के रूप में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची थीं। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान सहित अन्य वरिष्ठ बीजेपी नेता भी मौजूद थे। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से सांसद प्रज्ञा ठाकुर की तबीयत खराब चल रही है। जिसके चलते वो कुछ समय तक दिल्ली के अस्पताल में भी भर्ती रहीं थी।

सांसद प्रज्ञा ठाकुर लॉकडाउन के 82 दिनों बाद 21 जून को अपने संसदीय क्षेत्र में दिखाई दी थीं। जब स्थानीय मीडिया ने क्षेत्र से लॉकडाउन के दौरान 82 दिनों गायब रहने पर सवाल किया तो उन्होंने मासूम सा जवाब दिया कि मैं आना चाहती थी लेकिन ट्रेन और फ्लाइट्स बंद थे। कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए लागू किए गए पूरे लॉकडाउन में परेशान जनता अपनी सांसद को तलाशती रही मगर उनका कहीं पता नहीं मिला। बाद में जब जगह-जगह गुमशुदगी के पोस्टर्स भी लगाए गए तब सांसद प्रज्ञा ने कहा था कि वे दिल्‍ली में आंख का इलाज करवा रही हैं।गौरतलब है कि बिती 30 मई को प्रज्ञा सिंह ठाकुर की गुमशुदगी के पोस्टर भोपाल शहर में लगाए गए थे।अगले ही दिन यानी 31 मई को उनके दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी सामने आई थी।