भारतीय महिला फुटबॉल टीम की कप्तान आशालता देवी ने कहा कि एशियन कप में खेलना मेरा सपना था, जो 2022 में पूरा होने जा रहा है। दरअसल, महिला एशिया फुटबॉल कप 2022 की मेजबानी 42 साल बाद भारत को मिली है। इससे पहले 1979 में मेजबान मिली थी, तब भारतीय टीम रनरअप रही थी।

यह इवेंट 2023 फीफा महिला वर्ल्ड कप के लिए आखिरी क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट होगा। मेजबान होने के कारण भारतीय टीम को एशियन कप में सीधे क्वालिफाई कर चुकी है।

‘पूरे महाद्वीप की नजरें हम पर होंगी’
आशालता ने एक वेबसाइट से कहा, ‘‘एएफसी एशियन कप में खेलना मेरा सपना था और अब हम ही इसे होस्ट कर रहे हैं। मैं बहुत खुश और उत्साहित हूं। इसके लिए मैं एआईएफएफ (ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन) और महिला कमेटी का धन्यवाद करना चाहती हूं, जिन्होंने टूर्नामेंट को भारत में कराने के लिए काफी प्रयास किए। यह बहुत बड़ा कदम है। पूरे महाद्वीप की नजरें हम पर ही होंगी।’’

‘मां को अपना मैच दिखाना चाहती हूं’
भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘मैंने जब से फुटबॉल खेलना शुरू किया है, तब से मेरा कोई भी मैच मैंने मां को नहीं दिखाया है। मैं सही समय का इंतजार कर रही थी, जो अब 2022 में आने वाला है। मैं मां को एशिया की बेस्ट टीम के खिलाफ अपना मैच देखने के लिए बुलाना चाहती हूं।’’

अगले साल होगा अंडर-17 महिला वर्ल्ड कप
महिला एशियन कप 2022 के आखिर में होगा। इसमें 12 टीमें शामिल होंगी। पहले इनकी संख्या 8 थी। साथ ही अगले साल होने वाला फीफा अंडर-17 महिला वर्ल्ड कप भी भारत की मेजबानी में ही होना है। भारतीय टीम ने टूर्नामेंट के लिए सीधे क्वालिफाई किया है।

कतर के खिलाफ पुरुष वर्ल्ड कप का क्वालिफायर मैच टला
फीफा पुरुष वर्ल्ड कप 2022 के लिए 8 अक्टूबर को होने वाला भारत-कतर का क्वालिफायर मुकाबला कोरोनावायरस के कारण टाल दिया गया है। यह मैच भारत में ही होना था। इसके बाद भारतीय टीम बांग्लादेश से उसी के घर में 12 नवंबर को क्वालिफायर मैच खेलना है। इसके बाद 17 नवंबर को घर में अफगानिस्तान से मुकाबला होगा।


भारतीय महिला फुटबॉल टीम की कप्तान आशालता देवी को पिछले साल एशिया की बेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर 2019 के लिए नामित किया गया था। -फाइल फोटो